राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ को समझना है तो शाखा में आना पड़ेगा-धनीराम जी
नोएडा: राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ द्वारा संचालित प्रेरणा शोध संस्थान न्यास द्वारा केशव संवाद नाम से पत्रिका सन 2000 से संचालित की जा रही है। इसी पत्रिका के संघ विमर्श भाग-3 का विमोचन 13 जनवरी 2021 को ‘प्रेरणा शोध संस्थान न्यास’ में संघ के प्रांत प्रचारक धनीराम जी, डॉक्टर नीलम जी, डॉक्टर प्रियंका सिंह जी और अरुण सिन्हा जी द्वारा किया गया। कार्यक्रम की अध्यक्षता अरुण सिन्हा की गई।
संघ रहता है प्रचार व प्रसिद्धि से दूर
संघ के प्रांत प्रचारक और कार्यक्रम के मुख्य वक्ता धनीराम जी ने बताया कि शाखा में आए बिना संघ को नहीं समझा जा सकता। संघ को समझने के लिए शाखा में आना अति आवश्यक है। उन्होंने कहा कि संघ अपने प्रारंभिक चरण से ही,अपने प्रचार एवं प्रसिद्धि से दूर रहकर देश और समाज के प्रति अपने समर्पण भाव एवं दायित्व को भली प्रकार से निभा रहा है। संघ समाज में कार्य करता है परंतु उसका प्रचार एवं प्रसार नहीं करता है। संघ निरंतर रूप से विकास करता जा रहा है अर्थात संघ एक विकासशील संगठन है। समाज के साथ मिलकर समाज के उद्देश्य को पूर्ण करने के लिए संघ एवं संघ के स्वयंसेवक पूर्ण रूप से समर्पित हैं। संघ समाज में चल रही परंपराओं एवं संस्कृति के अनुसार ही चलता है। वह अपनी कोई व्यक्तिगत राय समाज के किसी भी संस्था या प्राणी पर नहीं थोपता है। जो भी लोग संघ से जुड़े हुए हैं या फिर संघ की कार्यप्रणाली से परिचित हैं,उनके व्यवहार और परिचय से ही उनमें संस्कार स्पष्ट रूप से झलकते हैं।
भारत को विश्वगुरु बनाना परम लक्ष्य है
कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे श्रीमान अरुण सिन्हा जी ने कहा कि राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ का उद्देश्य समाज परिवर्तन द्वारा समाज को उच्च शिखर तक ले जाने का है। संघ का दृष्टिकोण वही है जो हमारी सनातन संस्कृति विचारधारा का दृष्टिकोण है। भारतीय समाज को पुनः विश्व गुरु बनाने के लिए संघ निरंतर अपने कार्य और दायित्व को भली प्रकार से निभा रहा है।
इस अवसर पर केशव संवाद पत्रिका की प्रमुख डॉ प्रिया प्रियंका सिंह ने पत्रिका का परिचय दिया और बताया कि पत्रिका सन 2000 से प्रकाशित हो रही है। पहले यह पत्रिका मेरठ से प्रकाशित होती थी, परंतु जुलाई 2016 से यह पत्रिका गौतम बुद्ध नगर जिले के नोएडा में स्थित प्रेरणा शोध संस्थान से निरंतर रूप से प्रकाशित हो रही है। प्रत्येक तीन माह में पत्रिका का एक विशेषांक भी प्रकाशित किया जाता है। इसी कड़ी में जनवरी माह में संघ विमर्श भाग-3 प्रकाशित किया गया है जिसमें राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ का इतिहास, विस्तार, विविध क्षेत्र में कार्य, विभिन्न गतिविधियां, बदलते सामाजिक परिवेश में संघ की भूमिका एवं अन्य विषय।

केशव संवाद पत्रिका की संघ विमर्श भाग-3 की अंक संपादिका डॉक्टर नीलम कुमारी जी ने भी संघ के बारे में अपने विभिन्न दृष्टिकोण बताएं। उन्होंने बताया कि राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ का इतिहास एवं वर्तमान समय में सामाजिक परिवेश में संघ की भूमिका के साथ-साथ, संघ के विभिन्न विषयों पर दृष्टिकोण एवं 75 लेखकों के लेख इस केशव संबाद संघ विमर्श भाग 3 में प्रकाशित किए गए हैं।

About the author

Related Post

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *